Home Uttarakhand भारत के शिक्षा मंत्री कौन हैं? 2020 - Education Minister (MHRD) of...

भारत के शिक्षा मंत्री कौन हैं? 2020 – Education Minister (MHRD) of India – Bharat ke Shiksha Mantri Kaun hai?

इंटरनेट पर कई लोगों द्वारा अकसर यह प्रश्न पूछे गया है कि भारत के शिक्षा मंत्री कौन हैं? (Bharat ke Shiksha Mantri Kaun hai?) भारत में शिक्षा मंत्रालय कौन देखता है? शिक्षा मंत्रालय किस मंत्रालय के अंतर्गत आता है? तो चलिए आज आपके इन सवालों का जवाब डिटेल में देते हैं।

भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय को पूर्व में शिक्षा मंत्रालय (Shiksha Mantri) के नाम से जाना जाता था। 25 सितंबर 1985 को शिक्षा मंत्रालय का नाम बदलकर मानव संसाधन विकास मंत्रालय कर दिया गया।

इस मंत्रालय को दो विभागों में बांटा गया है- पहला स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग व दूसरा उच्चतर शिक्षा विभाग। प्राथमिक, माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षा, वयस्क शिक्षा और साक्षरता ये सभी स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग के अंतर्गत आते हैं। विश्वविद्यालय शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, छात्रवृत्ति आदि ये सभी उच्चतर शिक्षा विभाग के अंतर्गत आते हैं।

भारत के शिक्षा मंत्री कौन हैं? – Bharat ke Shiksha Mantri Kaun hai?

जैसा कि हमने आपको बताया तत्कालीन शिक्षा मंत्रालय अब 26 सितंबर 1985 तक इन दोनों विभागों के अधीन है। और इन दोनों विभागों को मानव संसाधन विकास मंत्रालय देखता है।

तो इस आधार पर भारत के वर्तमान शिक्षा मंत्री (Shiksha Mantri) को मानव संसाधन विकास मंत्री के तौर पर जाना जाता है। वर्तमान में रमेश पोखरियाल निशंक भारत के मानव संसाधन विकास मंत्री हैं। शंजय शामराव धोत्रे मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री हैं।

रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने जब 2019 में मानव संसाधन विकास मंत्री का पदभार सँभालने के बार ट्विटर पर लिखा, “आज मानव संसाधन विकास मंत्रालय में केंन्द्रीय मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला। मुझ पर विश्वास करने के लिए यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का आभार प्रकट करता हूँ। मुझे पूर्ण विश्वास है कि उनके कुशल नेतृत्व में नव भारत के निर्माण का सपना पूरा होगा।”

आइए जानते हैं कौन हैं रमेश पोखरियाल निशंक:

रमेश पोखरियाल निशंक जीवन परिचय:

पूरा नाम: रमेश पोखरियाल निशंक
जन्म तिथि: 15 Jul 1959
जन्म स्थल: पिनानी, पौरी गढ़वाल, उत्तराखंड
पार्टी: भारतीय जनता पार्टी
शिक्षा: पीएचडी
पिता का नाम: स्व. श्री परमानंद पोखरियाल
माता का नाम: स्व. श्रीमती विशाम्बरी देवी
पत्नी का नाम: श्रीमती कुसुमकांता
बेटा: 2
बेटी: 3

साल 2014 में रमेश पोखरियाल निशंक ने चुनाव में उत्तराखंड के हरिद्वार निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस पार्टी की रेणुका रावत को हराया था और वे 16 वीं लोक सभा के लिए चुने गए।

साल 2009 से 2011 तक उन्होंने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के रूप में पदभार संभाला था। इस दौरान उन्होंने – गोपन (लाइव स्टॉक), गृह, ऊर्जा, लोक निर्माण, वन, उच्च शिक्षा, आपदा प्रबंधन और पुनर्वास, सूचना, आवास आदि विभागों का पदभार भी संभाल था।

(Shiksha Mantri)

मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा जारी की गई डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ की संक्षिप्त जीवनी:

डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ का जन्म 1959 में हुआ था। वह एक भारतीय राजनीतिज्ञ होने के साथ ही एक प्रसिद्ध लेखक और कवि भी हैं। पहली बार उन्होंने 1991 में तत्कालीन उत्तरप्रदेश की कर्णप्रयाग विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़कर विधानसभा में अपना पदार्पण किया था। उत्तरप्रदेश की विधानसभा में डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ लगातार तीन बार विधायक और दो बार कैबिनेट मंत्री बने। वर्तमान में वह मानव संसाधन विकास मंत्रालय के केंद्रीय मंत्री और हरिद्वार क्षेत्र से लोक सभा सांसद है। वे उत्तराखण्ड राज्य के पाँचवे मुख्यमंत्री रहे हैं।

डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ अब तक हिन्दी साहित्य की तमाम विधाओं की पांच दर्जन से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। उनका नाम राष्ट्रकवियों की श्रेणी में शामिल है। डॉ0 ‘निशंक’ की प्रथम रचना कविता संग्रह ‘समर्पण’ का प्रकाशन 1983 में हुआ था। डॉ0 ‘निशंक’ के साहित्य को अब तक विदेशी भाषाओं जर्मन, अंग्रेजी, फ्रैंच, नेपाली समेत भारत की तमिल, तेलुगू, कन्नड़, मलयालम, मराठी, गुजराती, पंजाबी, संस्कृत आदि में अनूदित किया जा चुका है। डॉ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ के के साहित्य को मद्रास, चेन्नई तथा हैंबर्ग विश्वविद्यालय के पाठ्यक्रम में भी शामिल किया गया है।


Conclusion – Bharat ke Shiksha Mantri Kaun Hain?

Question: भारत के शिक्षा मंत्री कौन हैं? 2020 – Bharat ke Shiksha Mantri Kaun hain?
Who’s the Education Minister of India in 2020?

Answer: भारत के शिक्षा मंत्री (Shiksha Mantri), जिन्हें अब वर्तमान में मानव संसाधन मंत्री के नाम से जाना जाता है, डॉ रमेश पोखरियाल निशंक हैं।


किन वजहों से कोरोना के मरीजों में बढ़ जाता है मौत का खतरा, जानिए

चंबा शहर के नीचे 440 m लंबी सुरंग बनकर तैयार, इस तकनीक का हुआ इस्तेमाल


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates

वर्ल्ड कप की मेजबानी करने वाला स्टेडियम, खेत की तरह दिख रहा है, 2 फीट लंबी घास से भरा मैदान

खेत जैसा नजर आता है वो मैदान जिस पर कभी वर्ल्ड कप का मैच हुआ था। पटना के मोइनुल हक स्टेडियम(Moin-ul-Haq Stadium),...

Mirzapur Season 2: जानिए आखिर ट्विटर पर क्यों ट्रेंड हो रहा है बॉयकॉट मिर्ज़ापुर 2, गुड्डू भैया से जुड़ा है मामला.. पढ़ें

लंबे इंतजार के बाद अमेज़न प्राइम वीडियो ने सोमवार को मिर्जापुर के दूसरे सीज़न की रिलीज़ डेट की घोषणा की। लेकिन मंगलवार...

भूमि पूजन: अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त को नहीं मिलेगा किसी को भी प्रवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में श्री राम मंदिर की भूमि पूजन के लिए पहुंचेंगे इस को ध्यान में रखते...

1983 वर्ल्ड कप चैंपियन भारतीय क्रिकेट टीम को कितने पैसे मिलते थे जानिए

दिग्गज पाकिस्तानी क्रिकेटर रमीज राजा ने 1983 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम की पे-स्लिप शेयर की है। कपिल देव की कप्तानी...

हाईस्कूल में फेल हुई छात्रा ने पिया जहर, वहीं पिथौरागढ़ में छात्रा ने की फांसी लगाकर आत्महत्या

उत्तराखंड के नैनीताल में हाईस्कूल में फेल होने के बाद गवर्नमेंट इंटर कॉलेज बाजुनियाहल्लु की एक छात्रा ने आत्मघाती कदम उठाया। दरअसल,...