Home National भारत में जून-जुलाई में कोरोनावायरस के चरम पर होने की संभावना: एम्स...

भारत में जून-जुलाई में कोरोनावायरस के चरम पर होने की संभावना: एम्स निदेशक ने…

AIIMS Director : पूरे देश में कोरोना महामारी के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इस बीच एम्स निदेशक रणदीप गुलेरिया का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि जून-जुलाई में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ेंगे।

गुलेरिया ने कहा, ‘दो चीजों को देखने की जरूरत है, जैसे-जैसे मामले बढ़ रहे हैं, हमारा परीक्षण भी बढ़ा है। यदि हम सफलता चाहते हैं, तो भी यदि परीक्षण बढ़ता है, तो मामलों को कम किया जाना चाहिए। हमें सतर्क रहना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘लॉकडाउन ने बहुत कुछ हासिल किया है। पहला फायदा यह है कि मामलों की संख्या उतनी नहीं बढ़ी है। जो हमारे साथ थे, उनके मामले इतने अधिक हो गए हैं। लोगों को कोरोना अस्पताल, डॉक्टरों का प्रशिक्षण और समय मिला है। गुलेरिया ने कहा, “आने वाले महीनों में कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या में और बढ़ोतरी होगी। जून-जुलाई में, कोरोना संक्रमित मामले चरम पे होंगे, यानी वे तेजी से बढ़ेंगे।

उन्होंने कहा, ‘पीक टाइम या 2-3 महीने के बाद ही सकारात्मक मामलों की संख्या में कमी आएगी। सरकार को covid-19 केंद्र को बढ़ाना चाहिए, परीक्षण करना चाहिए और हॉटस्पॉट क्षेत्रों या स्थानों पर सख्ती बनाए रखनी चाहिए। गुलेरिया ने ये भी कहा कि, ‘कोरोना ( corona) के खिलाफ युद्ध, अवाम की लड़ाई है। ऐसे में लोगों को सहयोग करना होगा। सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजर, हैंडवाश जैसे बुनियादी नियमों का पालन करना होगा।


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates