Home Health जानिए ' सत्तू के आटे' के जादुई फायदे, डायबिटीज, मोटापा, पेट के...

जानिए ‘ सत्तू के आटे’ के जादुई फायदे, डायबिटीज, मोटापा, पेट के रोगों के लिए कारगर…

1- सनस्ट्रोक की रोकथाम – गर्मियों के दिनों में सनस्ट्रोक का सबसे बड़ा खतरा होता है और सत्तू का सेवन सनस्ट्रोक को रोकता है। शीतलता सत्तू के साथ शरीर में पहुँचती है, इसलिए यह हमें गर्मी की चपेट से बचाती है और हमें स्वस्थ रखती है।

2- पेट को ठंडा रखने में मदद करता है- गर्मियों के मौसम में में सत्तू के सेवन करने से गर्मी या लू से बचा जा सकता है। पेटको ठंडा रखने के साथ ही सत्तू कई प्रकार के पेट के रोगों को दूर करता हैं।

3- ऊर्जा का स्रोत – चने का सत्तू लेना फायदेमंद होता है और इसमें मौजूद मिनरल्स हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। चने के सत्तू में पाया जाने वाला प्रोटीन लिवर के लिए फायदेमंद होता है।

4- मोटापा कम करता है – चने के सत्तू से फैट को आसानी से कम किया जा सकता है। अधिक भूख लगने पर सत्तू खाने या शर्बत पीने के बाद, आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगती है।

5- डायबिटीज में लाभ – चने का सत्तू शरीर में अतिरिक्त ग्लूकोज की मात्रा को भी कम करता है और इस वजह से सत्तू को डायबिटीज के रोगियों के लिए बहुत उपयोगी माना जाता है।

चने से सत्तू का आटा दो प्रकार से बनाया जाता है। बाजार के भुने चनो से या फिर घर के चनो से या चने की दाल से

1-बाजार के भुने चनो से –
बाजार के भुने चनो से आटा बनाना बहुत आसान है। इसके लिए आवश्यक समग्री –

भुने हुए चने २००ग्रा

विधि –

पहले चनो को मिक्सी से बारीक़ पीस लें।
फिर इसे किसी एयर टाईट बर्तन में बंद करके रख लें।
और अब हमारा सत्तू का आटा तैयार जो चूका है।

2- घर के चनो से या चना की दाल से –

चने की दाल या चनो से आटा बनाना बहुत आसान है। इसके लिए आवश्यक समग्री –

चने की दाल या चने २००ग्रा

विधि –
सबसे पहले चने की दाल या चने को ८-९ घंटो के लिए पानी में भिगो कर रख दे।
अब इनको पानी से निकल ले ,और घुप में अच्छी तरह से सुखा ले।
अब कड़ाई में धीमी आच पर भुन ले।
अब इन्हें मिक्सी में पीस ले।
अब इसे किसी एयर टाईट बर्तन में रख दे। अब आप इससे कोई भी रेसिपी बना सकते है।


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates