भगवान विष्णु के परमधाम ‘बद्रीनाथ’ में नहीं बजाया जाता शंख, वजह जानकर चौंक जाएंगे आप

Heavy snowfall in Badrinath and Hemkund sahib

भगवान विष्णु को शंख की ध्वनि बहुत प्रिय लगती है, लेकिन उनके परम धाम बद्रीनाथ (Badrinath Dham) में शंख बजाना मना है..ये है वजह

हिमालय की गोद में बसा देवभूमि उत्तराखंड युगों युगों से देवी देवताओं की प्रियस्थली रहा है। चमोली जिले में हिमालयी चोटियों की तलहटी पर भगवान विष्णु का भू-बैकुंठ बद्रीनाथ विराजमान में है। श्री बद्रीनाथ धाम भारत के चार धामों में से एक प्रमुख धाम है।

कहा जाता है की भगवान विष्णु को शंख की ध्वनि बहुत ही प्रिय लगती है, लेकिन उनके धाम भू-बैकुंठ बदरीनाथ में शंख बजाना मना है। आखिर ऐसा क्या हुआ के स्वयं भगवान विष्णु के परम धाम बद्रीनाथ में शंख नहीं बजाया जाता?

दरअसल, इसके पीछे उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले के अगस्त्यमुनि ब्लॉक के सिल्ला गांव से जुड़ी एक प्राचीन मान्यता प्रचलित है। चलिए जानते हैं ये WeUttarakhand Epic की खास पेशकश मे:


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)