Home National 50,000 ‘NCC कोरोना योद्धाओं' की सेना को किया जा रहा तैनात, कैडेट्स...

50,000 ‘NCC कोरोना योद्धाओं’ की सेना को किया जा रहा तैनात, कैडेट्स की तैनाती से राज्य कर्मचारियों को मिलेगी थोड़ी राहत

दुनिया भर में अब तक 21 लाख से ज्यादा लोग कोविड-19 ( कोरोना वायरस) से संक्रमित और करीब 1 लाख 45 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।संक्रमण पर काबू पाया जा सके इसके लिए दुनियाभर के कई देशों में ‘ लॉक डाउन’ की नीति अपनाई जा रही है। वहीं भारत में भी लॉक डाउन को सफल बनाने और covid-19 ( या कोरोना) वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए, मेडिकल स्टाफ और पुलिसकर्मी युद्ध स्तर पर प्रयास कर रहे हैं। लेकिन संक्रमित लोगों की लगातार संख्या में बढ़ोतरी, चिंता का विषय बनी हुई है।

पूरे देश में कई इलाकों को हॉटस्पॉट घोषित करने के बाद, पुलिस और मेडिकल स्टाफ की कमी को देखते हुए, नेशनल कैडेट कॉर्प्स (NCC) ने अपने 50,000 स्वयंसेवकों की एक सेना बनाई है, जो राज्य सरकारों के अनुरोधों के आधार पर देश भर में तैनात किए जा रहे हैं, ताकि कोरोनोवायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में मदद की जा सके।

एनसीसी के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल राजीव चोपड़ा ने कहा, एनसीसी स्वयंसेवक कोरोना योद्धाओं की संख्या 50,000 तक पहुंच गई है और इसमें लगातार और स्वयंसेवक शामिल हो रहे हैं। तमिलनाडु, गुजरात, महाराष्ट्र और बिहार जैसे राज्यों ने पहले ही एनसीसी स्वयंसेवकों की तैनाती कर दी थी।

उन्होंने बताया की”हमें केरल और ओडिशा से भी अनुरोध मिला है।” “राज्यों को एनसीसी कैडेटों को नियुक्त करने का लाभ दिखाई दे रहा है क्योंकि इससे उनके राज्य के कर्मचारियों को दूसरे जरूरी काम को करने का समय मिल रहा है और इसलिए NCC कैडेट्स की मांग बढ़ रही है।”

आपको बता दें, नेशनल कैडेट कॉर्प्स( NCC) , जो रक्षा मंत्रालय के तहत काम करती है, देश का सबसे बड़ा वर्दीधारी युवा संगठन है, जिसकी अनुमानित संख्या करीब 14 लाख है।
लेकिन कोरोना की इस जंग में 18 साल से अधिक उम्र के वरिष्ठ डिवीजन स्वयंसेवक कैडेट्स – लड़कों और लड़कियों – का उपयोग प्रशासन की सहायता के लिए किया जा रहा है।

लेफ्टिनेंट जनरल चोपड़ा ने कहा कि 15 दिनों के भीतर, 14 राज्यों में देश भर में 3,700 कैडेट तैनात किए गए हैं, गुजरात में अधिकतम जहां 1,100 से अधिक कैडेट विभिन्न कर्तव्यों के लिए तैनात किए गए हैं।

कानून और व्यवस्था के लिए तैनात नहीं किया जा रहा है

एनसीसी प्रमुख ने कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए हर कदम उठाया गया है कि कैडेट कोरोनोवायरस के संपर्क में नहीं हैं और मेरे कैडेट्स की सुरक्षा का अत्यधिक महत्व है। उन्हें उन क्षेत्रों में नियोजित नहीं किया जा रहा है जिन्हें राज्य सरकारों द्वारा हॉटस्पॉट के रूप में सील या चिह्नित किया गया है। “वे कानून और व्यवस्था कर्तव्यों के लिए भी नियोजित नहीं हैं।”

अधिकारी ने कहा कि “कैडेटों को कम से कम आठ के समूह के रूप में तैनात किया जा रहा है और उनके साथ एक एनसीसी अधिकारी या प्रशिक्षक है, जो यह सुनिश्चित करेंगे कि उनको सही काम दिया गया है और वह सुरक्षित हैं।”

” कैडेटों को प्रशासन द्वारा ट्रैफ़िक प्रबंधन, एटीएम के बाहर कतार प्रबंधन, बैंकों में मदद के लिए नियुक्त किया गया है,
इसके अतिरिक्त, उन्हें राशन और पका हुआ भोजन बांटने के लिए भी तैनात किया जा रहा है।”

“मूल रूप से कैडेट्स को रसद और सप्लाई चेन, हेल्पलाइन और डेटा प्रबंधकों के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है,” लेफ्टिनेंट जनरल चोपड़ा ने कहा।

उन्होंने कहा कि प्रशासन ने महसूस किया है कि एनसीसी कैडरों की तैनाती से उन्हें अपने स्वयं के कर्मचारियों को अन्य क्षेत्रों में अधिक काम करने में मदद मिलती है।

लोग एनसीसी कैडेट्स को बेहतर प्रतिक्रिया देते हैं

लोग एनसीसी कैडेटों को बेहतर सुनते हैं और उनका पालन भी करते हैं।लोग इनके साथ जुड़ते हैं क्योंकि वे उन्हें अपने बच्चों के रूप में देखते हैं। कैडेट भी अच्छी तरह से व्यवहार करते हैं और अच्छी तरह से बोलते हैं। लोग इनकी बातें इसलिए भी मानते हैं क्योंकि वो जानते हैं कि ये सभी एनसीसी कैडेट्स स्वयंसेवक हैं, और ना ही किसी पैसे के लिए काम कर रहे हैं और ना ये इनकी नौकरी है।


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates

वर्ल्ड कप की मेजबानी करने वाला स्टेडियम, खेत की तरह दिख रहा है, 2 फीट लंबी घास से भरा मैदान

खेत जैसा नजर आता है वो मैदान जिस पर कभी वर्ल्ड कप का मैच हुआ था। पटना के मोइनुल हक स्टेडियम(Moin-ul-Haq Stadium),...

Mirzapur Season 2: जानिए आखिर ट्विटर पर क्यों ट्रेंड हो रहा है बॉयकॉट मिर्ज़ापुर 2, गुड्डू भैया से जुड़ा है मामला.. पढ़ें

लंबे इंतजार के बाद अमेज़न प्राइम वीडियो ने सोमवार को मिर्जापुर के दूसरे सीज़न की रिलीज़ डेट की घोषणा की। लेकिन मंगलवार...

भूमि पूजन: अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त को नहीं मिलेगा किसी को भी प्रवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में श्री राम मंदिर की भूमि पूजन के लिए पहुंचेंगे इस को ध्यान में रखते...

1983 वर्ल्ड कप चैंपियन भारतीय क्रिकेट टीम को कितने पैसे मिलते थे जानिए

दिग्गज पाकिस्तानी क्रिकेटर रमीज राजा ने 1983 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम की पे-स्लिप शेयर की है। कपिल देव की कप्तानी...

हाईस्कूल में फेल हुई छात्रा ने पिया जहर, वहीं पिथौरागढ़ में छात्रा ने की फांसी लगाकर आत्महत्या

उत्तराखंड के नैनीताल में हाईस्कूल में फेल होने के बाद गवर्नमेंट इंटर कॉलेज बाजुनियाहल्लु की एक छात्रा ने आत्मघाती कदम उठाया। दरअसल,...