Home Uttarakhand इस साल प्रदेश में इतने हफ्ते देरी से पहुंचेगा मानसून, 21 मई...

इस साल प्रदेश में इतने हफ्ते देरी से पहुंचेगा मानसून, 21 मई से गर्मी बढ़ने के आसार लेकिन…

Monsoon : उत्तराखंड में शनिवार को सबसे अधिकतम तापमान दर्ज किया गया। शुक्रवार को पहली बार अधिकतम तापमान 35 डिग्री से अधिक था। शनिवार को यह 36 डिग्री से ऊपर पहुंच गया। मौसम केंद्र के अनुसार, यह वर्ष 2020 का अब तक का सबसे गर्म दिन था। दिन में तेज धूप के कारण लोगों को गर्मी और उमस से जूझना पड़ा। दोपहर में गर्म हवाओं से लोग अधिक परेशान रहे।

वहीं इस साल, मॉनसून उत्तराखंड तक पहुंचने में एक सप्ताह की देरी कर सकता है। केंद्रीय मौसम विभाग ने एक दिन पहले केरल पहुंचने वाले मानसून में पांच दिन की देरी का अनुमान लगाया है। ऐसे में अनुमान है कि मानसून 27 जून के आसपास उत्तराखंड पहुंच सकता है।

आम तौर पर मानसून 1 जून को केरल के रास्ते भारत पहुंचता है। मौसम विभाग के अनुसार, इस साल 5 जून के आसपास देश में मानसून के दस्तक देने का अनुमान है। यदि सिस्टम सामान्य रहता है तो मानसून को केरल से उत्तराखंड पहुंचने में 21 दिन लगते हैं। ऐसे में पांच दिनों में केरल पहुंचने वाला मानसून, उत्तराखंड में भी पांच दिनों के लिए पिछड़ जाएगा।

  वहीं मौसम विज्ञानियों के अनुसार, कुल मिलाकर छह से सात दिनों की देरी से मानसून के उत्तराखंड पहुंचने की संभावना है। हालांकि, उत्तराखंड सहित देश के अधिकांश क्षेत्रों में इस साल मानसून सामान्य रहने की उम्मीद है।

 उत्तराखंड में 21 मई के बाद गर्मी बढ़ने के आसार हैं। मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, अधिकतम और न्यूनतम तापमान अभी भी सामान्य है। अगले कुछ दिनों तक अधिकांश स्थानों पर मौसम सामान्य रहने की उम्मीद है।वहीं 21 मई के बाद अधिकतम और न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन से चार डिग्री अधिक हो सकता है। इससे दिन की गर्मी के साथ-साथ रात को भी गर्मी बढ़ेगी।


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates