Home Uttarakhand आज खुले द्वितीय केदार भगवान मध्यमहेश्वर के परम धाम के कपाट, तस्वीरों...

आज खुले द्वितीय केदार भगवान मध्यमहेश्वर के परम धाम के कपाट, तस्वीरों में कीजिए दर्शन

द्वितीय केदार ‘मध्यमहेश्वर’ धाम के कपाट सोमवार दोपहर 12 बजे पूरे विधि विधान और वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ खोल दिए गए। कोरोना वायरस लॉकडाउन को ध्यान में रखते हुए इस बार कपाट खुलने के समय सीमित संख्या में लोग मौजूद रहे।

Madmaheshwar Temple
Madmaheshwar Temple

द्वितीय केदार भगवान मदमहेश्वर की चल विग्रह उत्सव डोली 9 मई को अपने शीतकालीन प्रवास पंचकेदार गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ से अपने धाम के लिए रवाना हो हुई थी। डोली को वाहन के द्वारा रात्रि विश्राम के लिए राकेश्वरी मंदिर रांसी गांव पहुंचाया गया था। जिसके बाद दूसरे दिन डोली अपने दूसरे पड़ाव गौंडार गांव पहुंची।

Madmaheshwar Temple Doli
Madmaheshwar Temple

सोमवार, 11 मई की सुबह डोली गौंडार से अपने परम धाम मध्यमहेश्वर के लिए रवाना हुई। इसके बाद पारंपरिक विधि विधान के साथ द्वितीय केदार के कपाट खोल दिए गए। अब अगले छह महीनों तक बाबा की पूजा यहीं होगी।

Madhyamaheshwar Temple
Madhyamaheshwar Temple

आपको बता दें कि ‘द्वितीय केदार मद्महेश्वर’ मंदिर 11,473 फीट की ऊंचाई पर चौखंभा शिखर की तलहटी में स्थित है। यहां भगवान शिव के नाभि या मध्य भाग की पूजा की जाती है। मान्यता है कि यहां का जल पवित्र है। इसकी कुछ बूंदें ही मोक्ष के लिए पर्याप्त हैं। शीतकाल में छह महीने के लिए मंदिर के कपाट बंद कर दिए जाते हैं। कपाट बंद होने पर बाबा मध्यमहेश्वर की पूजा पंचकेदार गद्दीस्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में की जाती है।


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates