Home Uttarakhand Vikas Dubey: आखिर क्यों जेसीबी से तोड़ा गया आरोपी विकास दुबे का...

Vikas Dubey: आखिर क्यों जेसीबी से तोड़ा गया आरोपी विकास दुबे का घर, पुलिस ने बताई ये वजह

उत्तर प्रदेश पुलिस ने हाल ही में विकास दुबे (Vikas Dubey) के घर को पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया था। पुलिस ने शुक्रवार को कानपुर मुठभेड़ के बाद ये कदम उठाया था और शनिवार को विकास दुबे के कानपुर वाले घर को और घर के अंदर खड़ी गाड़ियों को नष्ट किया गया था। वहीं विकास दुबे के घर को ध्वस्त करने को लेकर अब पुलिस ने अपना स्पष्टीकरण जारी किया है और बताया है कि आखिर क्यों उन्होंने विकास दुबे के घर को जेसीबी की मदद से तोड़ने का फैसला लिया था।

पुलिस के अनुसार विकास के घर में जब छापा मारा गया था। तो पुलिस को घर में से भारी मात्रा में गोला-बारूद मिला था। पुलिस ने अपने बयान में कहा है कि विकास दुबे के घर की छत, दीवारों और जमीन से भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद किया गया हैं और इन्हें निकालने के लिए घर को तोड़ा गया था।

ये स्पष्टीकरण आईजी दफ्तर की और से जारी किया गया है। इस लिखित बयान के अनुसार विकास ने अपने घर की दीवारों, छत और फर्श पर गुप्त स्थान बनाकर उनमें हथियार और बारूद छुपा रखे थे। खुदाई करने के कारण भवन असुरक्षित हो गया था और इस कारण चौबेपुर पुलिस ने जेसीबी का इस्तेमाल किया था।

Vikas Dubey ने दीवारों में हथियार और कारतूस चुनवा रखे थे

कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने कहा था कि आरोपी विकास ने घर की दीवारों में हथियार और कारतूस चुनवा रखे थे। आईजी मोहित अग्रवाल के अनुसार विकास दुबे के गिराए गए घर से पुलिस को हथियार मिले हैं। पुलिस को सूचना मिली थी कि विकास ने घर में हथियार छिपाए हुए थे। जिसके कारण घर तोड़ना पड़ा।

विकास दुबे तीन दिनों से फरार है और विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए यूपी के सारे बॉर्डर को सील तक कर दिया गया है। साथ में ही पुलिस ने नेपाल से जुड़े सातों जिलों में विशेष अलर्ट भी जारी किया है। पुलिस ने विकास दुबे के ऊपर 1 लाख का इनाम भी रखा है। यूपी पुलिस और एसटीएफ की 20 टीमें और तीन हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी विकास की तलाश में लगाए गए हैं। नेपाल भागने की आशंका को देखते हुए नेपाल बॉर्डर से सटे सातों जिलों में विशेष अलर्ट किया गया है। इसके साथ ही विकास के ऊपर इनाम की राशि को बढ़ाकर एक लाख रुपये कर दिया गया है। लेकिन अभी तक विकास दुबे फरार है।

गौरतलब है कि शुक्रवार को पुलिस की एक टीम विकास दुबे को एक केस के सिलसिले में गिरफ्तार करने के लिए बिकरू गांव गई थी। लेकिन पुलिस रेड की जानकारी पहले से ही विकास दुबे को मिल गई थी। जिसके बाद विकास दुबे ने जेसीबी की मदद से पुलिस की टीम का रास्ता रोक लिया था। वहीं जैसे ही पुलिस आगे बढ़ने लगी तो विकास दुबे और उसके बदमाशों ने फायरिंग शुरू कर दी। जिसमें 8 पुलिसकर्मी वीरगति को प्राप्त हो गए थे। वहीं पुलिस ने विकास दुबे के घर को गिराने के लिए उसी जेसीबी का इस्तेमाल किया, जिसके जरिए पुलिस टीम को घेरा गया था।


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates

वर्ल्ड कप की मेजबानी करने वाला स्टेडियम, खेत की तरह दिख रहा है, 2 फीट लंबी घास से भरा मैदान

खेत जैसा नजर आता है वो मैदान जिस पर कभी वर्ल्ड कप का मैच हुआ था। पटना के मोइनुल हक स्टेडियम(Moin-ul-Haq Stadium),...

Mirzapur Season 2: जानिए आखिर ट्विटर पर क्यों ट्रेंड हो रहा है बॉयकॉट मिर्ज़ापुर 2, गुड्डू भैया से जुड़ा है मामला.. पढ़ें

लंबे इंतजार के बाद अमेज़न प्राइम वीडियो ने सोमवार को मिर्जापुर के दूसरे सीज़न की रिलीज़ डेट की घोषणा की। लेकिन मंगलवार...

भूमि पूजन: अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त को नहीं मिलेगा किसी को भी प्रवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में श्री राम मंदिर की भूमि पूजन के लिए पहुंचेंगे इस को ध्यान में रखते...

1983 वर्ल्ड कप चैंपियन भारतीय क्रिकेट टीम को कितने पैसे मिलते थे जानिए

दिग्गज पाकिस्तानी क्रिकेटर रमीज राजा ने 1983 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम की पे-स्लिप शेयर की है। कपिल देव की कप्तानी...

हाईस्कूल में फेल हुई छात्रा ने पिया जहर, वहीं पिथौरागढ़ में छात्रा ने की फांसी लगाकर आत्महत्या

उत्तराखंड के नैनीताल में हाईस्कूल में फेल होने के बाद गवर्नमेंट इंटर कॉलेज बाजुनियाहल्लु की एक छात्रा ने आत्मघाती कदम उठाया। दरअसल,...