Home Uttarakhand 9 महीने के बच्चे ने मात्र 6 दिन में जीती कोरोना से...

9 महीने के बच्चे ने मात्र 6 दिन में जीती कोरोना से जंग, उत्तराखंड में 50% मरीज ठीक होकर घर लौटे

उत्तराखंड में कोरोना संकट के बीच एक बड़ी खुशखबरी सामने आई है। देहरादून के मेडिकल अस्पताल में भर्ती कोरोना वायरस से संक्रमित नौ महीने के बच्चे ने छह दिन में कोरोना की जंग जीत ली है। बता दें कि यह बच्चा उत्तराखण्ड में सबसे जल्दी ठीक होने वाला कोरोना का मरीज भी बन गया है। वहीं राज्य में आज एक और जमाती में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। जिससे राज्य में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या अब बढ़कर 47 हो गई है।

संक्रमण से लड़ने में मां की दूध की रही है भूमिका

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार डॉ. अग्रवाल ने बताया कि संक्रमण के दौरान बच्चा मां का दूध पीता रहा। उन्होंने बताया कि मां के दूध में संक्रमण से लड़ने की बहुत क्षमता होती है। संभवत बच्चे के जल्द ठीक होने का एक कारण यह भी हो सकता है। बता दें कि मां का दूध भी बच्चे को संक्रमण से लड़ने की ताकत देता है। मां के दूध में एंटीबडी होती हैं, जो बच्चे की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती हैं और जिनकी प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है उनको कोरोना से आसानी से बचाया जा सकता है। 

अस्पताल के डिप्टी एमएस और कोरोना के स्टेट को-ऑर्डिनेटर डॉ. एनएस खत्री ने बताया कि बच्चे की दो रिपोर्ट लगातार निगेटिव आने के बाद उसे डिस्चार्ज किया जा रहा है। आपको बता दें कि देहरादून की भगत सिंह कॉलोनी में जमात से लौटे नौ महीने के बच्चे के पिता कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद बच्चे की तबीयत बिगड़ने पर उसे भी 17 अप्रैल को दून अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके बाद उसकी मां को भी सेंटर में क्वारंटीन (quarantine) किया गया था। जांच में मां का सैंपल निगेटिव आया था।

50% मरीज ठीक होकर घर लौटे

उत्तराखंड के अस्पतालों में भर्ती कोरोना के कुल मरीजों में से 50 प्रतिशत इलाज के बाद ठीक होकर डिस्चार्ज हो गए हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राज्य में अभी तक कुल 47 मरीजों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है और इसमें से 24 इलाज के बाद ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिए गए हैं।

अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने बताया कि राज्य के विभिन्न अस्पतालों में इलाज के बाद अभी तक 24 मरीज ठीक हो चुके हैं। अब राज्य के अस्पतालों में कोरोना के 23 मरीजों का ही इलाज चल रहा है। इसमें सबसे अधिक 12 मरीज दून अस्पताल में भर्ती हैं जबकि मेला अस्पताल हरिद्वार में सात, मिलिट्री अस्पताल देहरादून में एक, हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में तीन मरीजों का इलाज चल रहा है।


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates

वर्ल्ड कप की मेजबानी करने वाला स्टेडियम, खेत की तरह दिख रहा है, 2 फीट लंबी घास से भरा मैदान

खेत जैसा नजर आता है वो मैदान जिस पर कभी वर्ल्ड कप का मैच हुआ था। पटना के मोइनुल हक स्टेडियम(Moin-ul-Haq Stadium),...

Mirzapur Season 2: जानिए आखिर ट्विटर पर क्यों ट्रेंड हो रहा है बॉयकॉट मिर्ज़ापुर 2, गुड्डू भैया से जुड़ा है मामला.. पढ़ें

लंबे इंतजार के बाद अमेज़न प्राइम वीडियो ने सोमवार को मिर्जापुर के दूसरे सीज़न की रिलीज़ डेट की घोषणा की। लेकिन मंगलवार...

भूमि पूजन: अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त को नहीं मिलेगा किसी को भी प्रवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में श्री राम मंदिर की भूमि पूजन के लिए पहुंचेंगे इस को ध्यान में रखते...

1983 वर्ल्ड कप चैंपियन भारतीय क्रिकेट टीम को कितने पैसे मिलते थे जानिए

दिग्गज पाकिस्तानी क्रिकेटर रमीज राजा ने 1983 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम की पे-स्लिप शेयर की है। कपिल देव की कप्तानी...

हाईस्कूल में फेल हुई छात्रा ने पिया जहर, वहीं पिथौरागढ़ में छात्रा ने की फांसी लगाकर आत्महत्या

उत्तराखंड के नैनीताल में हाईस्कूल में फेल होने के बाद गवर्नमेंट इंटर कॉलेज बाजुनियाहल्लु की एक छात्रा ने आत्मघाती कदम उठाया। दरअसल,...