Home Uttarakhand एक युवा नेता ऐसा भी! 21 दिन के लॉक डाउन में दी...

एक युवा नेता ऐसा भी! 21 दिन के लॉक डाउन में दी 21 लाख की मदद, फ्री में बांटे मास्क और सैनिटाइजर

Corona in Uttarakahnd: कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के लिए एक और युवा नेता दीपक बिजल्वाण सरकार की मदद के लिए आगे आये हैं। कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिए उत्तरकाशी के जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिजल्वाण ने स्वास्थ्य विभाग को राज्य वित्त और जिला निधि अनुदान मद से 21 लाख रुपये की धनराशि प्रदान की है। इस धनराशि से जनपद में आइसोलेशन वार्ड बनाने और स्वास्थ्य सुविधा बहाली के लिए आग्रह किया गया है।

इससे पहले दीपक द्वारा जनपद में को कोरोना से अग्रिम रोकथाम के लिए मास्क और सैनिटाइजर भी बांटे गए हैं। और उन्होंने अस्वस्थ किया है यदि इस महामारी की रोकथाम के लिए जरूरत पड़े तो और भी धनराशि उपलब्ध की जाएगी। उनकी इस सराहनीय पहल से पूरा उत्तरकाशी जिला स्वागत कर रहा है। इस महत्वपूर्ण निर्णय के बाद वह भविष्य के युवा नेताओं के लिए मिसाल भी बन गए हैं।

Deepak Bijalwan

Corona in Uttarakhand: उत्तराखंड में एक ग्राम प्रधान ऐसा भी, कोरोना से निपटने के लिए 4 महीने का वेतन किया दान

वहीं दूसरी ओर जिलाधिकारी डा. आशीष चौहान ने कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए जिले के सभी प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में एक आइसोलेशन वार्ड बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सभी चिकित्सकों एवं स्वास्थ्य कर्मियों को अस्पताल में पर्याप्त मात्रा में सेनेटाइजर व मास्क रखने की बात कही।

कोरोना वायरस से लड़ते हुए युवा डॉक्टर ने गंवाई जान, मौत से पहले जारी वीडियो में बताया…देखिए वीडियो

Corona in Uttarakhand: 32 सैंपल भेजे गए

कोरोना वायरस के संक्रमण के लिहाज से उत्तराखंड में स्थिति फिलहाल स्थिर है। मंगलवार को राज्य से 31 और सैंपल जांच के लिए लैब भेजे गये हैं। इनमें सबसे अधिक नौ सैंपल हल्द्वानी मेडिकल कालेज से ही लिए गए हैं। इसके अलावा सिविल अस्पताल रुडक़ी से छह, दून अस्पताल से चार, माधव आश्रम अस्पताल रुद्रप्रयाग से तीन, जिला अस्पताल उत्तरकाशी व बेस अस्पताल नैनीताल से दो-दो और हिमालयन अस्पताल जौलीग्रांट, बेस अस्पताल श्रीनगर व बेस अस्पताल अल्मोड़ा से एक-एक सैंपल लेकर जांच के लिए लैब भेजा गया है। 

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक राज्य में पर्याप्त व्यवस्था है। कोरोना के संदिग्ध लक्षणों वाले मरीजों को निगरानी में रखने के लिए 48 क्वारेंटाइन फैसिलिटी तैयार कर ली गई हैं, जिसमें 1384 लोगों को रखा जा सकता है। बताया गया कि फिलहाल 10 संदिग्ध व्यक्तियों को फैसिलिटी क्वारेंटाइन में रखा गया है। जबकि 1266 लोगों को होम क्वारंटाइन में रखा गया है। बता दें, कि प्रदेश में अब तक कोरोना के चार मामले सामने आ चुके हैं। जिनमें देहरादून स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन सेवा अकादमी (आइजीएनएफए) के तीन प्रशिक्षु आइएफएस हैं। 


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates

वर्ल्ड कप की मेजबानी करने वाला स्टेडियम, खेत की तरह दिख रहा है, 2 फीट लंबी घास से भरा मैदान

खेत जैसा नजर आता है वो मैदान जिस पर कभी वर्ल्ड कप का मैच हुआ था। पटना के मोइनुल हक स्टेडियम(Moin-ul-Haq Stadium),...

Mirzapur Season 2: जानिए आखिर ट्विटर पर क्यों ट्रेंड हो रहा है बॉयकॉट मिर्ज़ापुर 2, गुड्डू भैया से जुड़ा है मामला.. पढ़ें

लंबे इंतजार के बाद अमेज़न प्राइम वीडियो ने सोमवार को मिर्जापुर के दूसरे सीज़न की रिलीज़ डेट की घोषणा की। लेकिन मंगलवार...

भूमि पूजन: अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त को नहीं मिलेगा किसी को भी प्रवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में श्री राम मंदिर की भूमि पूजन के लिए पहुंचेंगे इस को ध्यान में रखते...

1983 वर्ल्ड कप चैंपियन भारतीय क्रिकेट टीम को कितने पैसे मिलते थे जानिए

दिग्गज पाकिस्तानी क्रिकेटर रमीज राजा ने 1983 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम की पे-स्लिप शेयर की है। कपिल देव की कप्तानी...

हाईस्कूल में फेल हुई छात्रा ने पिया जहर, वहीं पिथौरागढ़ में छात्रा ने की फांसी लगाकर आत्महत्या

उत्तराखंड के नैनीताल में हाईस्कूल में फेल होने के बाद गवर्नमेंट इंटर कॉलेज बाजुनियाहल्लु की एक छात्रा ने आत्मघाती कदम उठाया। दरअसल,...