Home Uttarakhand Badrinath Dham: श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट आज प्रातः 4 बजकर 30...

Badrinath Dham: श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट आज प्रातः 4 बजकर 30 मिनट पर खोल दिए गए

Badrinath Dham: आज शुक्रवार सुबह 4 बजकर 30 मिनट पर कृष्ण अष्टमी तिथि धनिष्ठा नक्षत्र में बद्रीनाथ धाम के कपाट वैदिक मंत्रोच्चारण और पारंपरिक विधिविधान के साथ खोल दिए गए। बद्रीनाथ धाम में सुबह 3 बजे से ही कपाट खोलने की प्रक्रिया शुरू हो गई थी।

श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने की पहली तस्वीर:

Badrinath Dham Kapat Opening Photo 2020
Badrinath Dham 2020 – बद्रीनाथ टेम्पल

कपाट खुलने के समय रावल नंबूदरी, बद्रीनाथ धाम के धर्माधिकारी और पुजारी समेत लगभग 30 लोग उचित सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए मौजूद रहे। हालांकि इस बार कपाटोद्घाटन के अवसर पर बद्रीनाथ धाम में श्रद्धालुओं की मौजूदगी नहीं रही।

आपको बता दें कि पूर्व निर्धारित समय के अनुसार बद्रीनाथ धाम (Badrinath Dham) के कपाट 30 अप्रैल को खोले जाने थे, लेकिन देश में कोरोना की स्थिति को देखते हुए कपाट खुलने की तिथि में बदलाव किया गया था।

मंगलवार,12 मई को पूरे विध विधान के साथ गाड़ू घड़ा तेल कलश यात्रा डिम्मर से भगवान विष्णु के परम धाम बदरीनाथ धाम के लिए रवाना हो गई थी। 14 मई को यात्रा जोशीमठ और पांडुकेश्वर से होते हुए यात्रा बदरीनाथ धाम पहुंची। जहां 15 मई को प्रातः 4.30 पर कपाट खुलने के बाद तेल कलश गर्भ गृह में पहुंचाया गया।

बद्रीनाथ धाम (Badrinath Dham) के कपाट खुलने से पहले गुरुवार को भगवान बद्री विशाल के धाम को 10 क्विंटल गेंदे के फूलों से सजाया गया था। बद्रीनाथ सिंह द्वार, मंदिर परिसर, परिक्रमा स्थल, तप्त कुंड के साथ-साथ विभिन्न स्थानों को लगातार सेनेटाइज भी किया जा रहा है।

कपाटोद्घाटन से पहले पुलिस प्रशासन द्वारा बद्रीनाथ धाम के लिए जा रहे सभी की जाँच की गई। जिनके पास नहीं बने थे उन्हें पुलिस द्वारा वापस भेज दिया गया।

26 अप्रैल को गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खोल दिए गए थे। इसके बाद 29 अप्रैल को केदारनाथ धाम के कपाट सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर पूरे विधि विधान के साथ खोल दिए गए थे। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए केदारनाथ धाम में पुजारी समेत सिर्फ 16 लोग उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: ‘केदारनाथ धाम के कपाट’ खुलने से पहले होती है इनकी पूजा, आखिर कौन है ‘भुकुंट बाबा’ जानिए..

11 मई को द्वितीय केदार ‘मध्यमहेश्वर’ धाम के कपाट भी पूरे विधि विधान और वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ खोल दिए गए। कोरोना वायरस लॉकडाउन के मद्देनजर इस बार कपाट खुलने के समय सीमित संख्या में लोग मौजूद रहे।

20 मई को तृतीय केदार भगवान तुंगनाथ जी के धाम के कपाट खोल दिए जाएंगे। चतुर्थ केदार भगवान रुद्रनाथ जी के धाम के कपाट 18 मई को खोले जाएंगे।


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates

वर्ल्ड कप की मेजबानी करने वाला स्टेडियम, खेत की तरह दिख रहा है, 2 फीट लंबी घास से भरा मैदान

खेत जैसा नजर आता है वो मैदान जिस पर कभी वर्ल्ड कप का मैच हुआ था। पटना के मोइनुल हक स्टेडियम(Moin-ul-Haq Stadium),...

Mirzapur Season 2: जानिए आखिर ट्विटर पर क्यों ट्रेंड हो रहा है बॉयकॉट मिर्ज़ापुर 2, गुड्डू भैया से जुड़ा है मामला.. पढ़ें

लंबे इंतजार के बाद अमेज़न प्राइम वीडियो ने सोमवार को मिर्जापुर के दूसरे सीज़न की रिलीज़ डेट की घोषणा की। लेकिन मंगलवार...

भूमि पूजन: अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त को नहीं मिलेगा किसी को भी प्रवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में श्री राम मंदिर की भूमि पूजन के लिए पहुंचेंगे इस को ध्यान में रखते...

1983 वर्ल्ड कप चैंपियन भारतीय क्रिकेट टीम को कितने पैसे मिलते थे जानिए

दिग्गज पाकिस्तानी क्रिकेटर रमीज राजा ने 1983 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम की पे-स्लिप शेयर की है। कपिल देव की कप्तानी...

हाईस्कूल में फेल हुई छात्रा ने पिया जहर, वहीं पिथौरागढ़ में छात्रा ने की फांसी लगाकर आत्महत्या

उत्तराखंड के नैनीताल में हाईस्कूल में फेल होने के बाद गवर्नमेंट इंटर कॉलेज बाजुनियाहल्लु की एक छात्रा ने आत्मघाती कदम उठाया। दरअसल,...