Home Uttarakhand अब गंगा-यमुना के बाद, 'झीलों की नगरी' नैनीताल में भी दिखा लॉकडाउन...

अब गंगा-यमुना के बाद, ‘झीलों की नगरी’ नैनीताल में भी दिखा लॉकडाउन का असर, 20 फिट गहरे पानी में भी दिख रही है मछलियां..

Nainital lake: लॉकडाउन के चलते लोग घरों में बंद हैं, सड़कें खाली हैं, कारखाने बंद हैं और आसमान एकदम गहरा नीला रंग बिखेर रहा है। देश भर में वायु प्रदूषण 20 साल के सबसे निचले स्तर पर है। जीवन दायनी गंगा और यमुना नदी के पानी में 40 फीसदी तक प्रदूषण में कमी आई है।

लॉकडाउन ने बीते 30 दिनों में हमें प्रकृति के वो रंग दिखा दिए हैं, जो दशकों से प्रदूषण की परत के नीचे कहीं दबे थे। इसी कड़ी में उत्तराखंड की ‘झीलों की नगरी’ नैनीताल में भी लॉकडाउन का सकारात्मक असर देखने को मिला है।

अपनी प्राकृतिक सौंदर्य के लिए विश्वविख्यात नैनीताल सालभर पर्यटकों से खचाखच भरा रहता है। नैनी झील में दिनभर बोटिंग चलती है, सड़कों पर गाड़ियों का जाम लगा होता है और शाम ढलते ही मॉल रॉड पर पर्यटकों की हलचल बढ़ जाती है।

लेकिन लॉकडाउन के दौरान ये सब थमने के बाद नैनीताल को फिर एक बार सांस लेने का एक मौका मिल गया है। इस दौरान यहां नैनी झील का पानी इतना साफ हो गया है कि 20 फ़ीट तक गहरे पानी में मछलियों की हलचल को देखा जा सकता है।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, प्रसिद्ध पर्यावरणविद् डॉ. अजय रावत ने बताया कि लॉकडाउन के बाद से नैनीताल की जैव विविधता, सौंदर्य और विशेष रूप से नैनी झील पर एक सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। पानी की पारदर्शिता बढ़ गयी है और प्रदूषण काफी हद तक कम हो गया है।

After Ganga And Yamuna, Nainital Lake Water Becomes Clean Amid Lockdown
Photo: Amit Sah

उन्होंने बताया कि पहले नैनी झील में मछलियों की हलचल केवल 7 फ़ीट तक दिखाई देती थी, लेकिन लॉकडाउन के दौरान 25 फ़ीट तक भी दिखने लगे गयी है।

Nainital lake : सोशल मीडिया पर नैनीताल की तस्वीरें और वीडियो वायरल

वहीं, नैनीताल के फोटोग्राफर अमित साह ने अपने फ़ेसबुक पेज पर लॉकडाउन के दौरान नैनीताल की खूबसूरत तस्वीरें और वीडियो शेयर की है। उन्होंने नैनी झील की एक वीडियो शेयर की है, जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है। वीडियो को अब तक 10 लाख (1 मिलियन) से भी ज्यादा लोग देख चुके हैं।

नैनीताल की झील पर लॉकडाउन के इस असर को देखकर लोग अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। कमल पांडे लिखते हैं, “बहुत सुंदर। इस धरती में सभी जीव जंतुओं को जीने का अधिकार है। आपके द्वारा ली गई तस्वीर इसी सत्य को दर्शाती है।”

तो वहीं एक यूजर लिखती हैं, “कुदरत इशारा कर रही है कि अभी भी वक़्त है संभल जाओ। पॉल्युशन मत फैलाओ।”


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates

वर्ल्ड कप की मेजबानी करने वाला स्टेडियम, खेत की तरह दिख रहा है, 2 फीट लंबी घास से भरा मैदान

खेत जैसा नजर आता है वो मैदान जिस पर कभी वर्ल्ड कप का मैच हुआ था। पटना के मोइनुल हक स्टेडियम(Moin-ul-Haq Stadium),...

Mirzapur Season 2: जानिए आखिर ट्विटर पर क्यों ट्रेंड हो रहा है बॉयकॉट मिर्ज़ापुर 2, गुड्डू भैया से जुड़ा है मामला.. पढ़ें

लंबे इंतजार के बाद अमेज़न प्राइम वीडियो ने सोमवार को मिर्जापुर के दूसरे सीज़न की रिलीज़ डेट की घोषणा की। लेकिन मंगलवार...

भूमि पूजन: अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त को नहीं मिलेगा किसी को भी प्रवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में श्री राम मंदिर की भूमि पूजन के लिए पहुंचेंगे इस को ध्यान में रखते...

1983 वर्ल्ड कप चैंपियन भारतीय क्रिकेट टीम को कितने पैसे मिलते थे जानिए

दिग्गज पाकिस्तानी क्रिकेटर रमीज राजा ने 1983 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम की पे-स्लिप शेयर की है। कपिल देव की कप्तानी...

हाईस्कूल में फेल हुई छात्रा ने पिया जहर, वहीं पिथौरागढ़ में छात्रा ने की फांसी लगाकर आत्महत्या

उत्तराखंड के नैनीताल में हाईस्कूल में फेल होने के बाद गवर्नमेंट इंटर कॉलेज बाजुनियाहल्लु की एक छात्रा ने आत्मघाती कदम उठाया। दरअसल,...