Home National दर्दनाक घटना! जानवरों के बीच थी तो महफूज थी, रुख इंसानों की...

दर्दनाक घटना! जानवरों के बीच थी तो महफूज थी, रुख इंसानों की बस्ती का किया, तो दर्दनाक मौत मिली…

Kerala : “जंगलों में जानवरों के बीच थी, तो महफूज थी। रुख इंसानों की बस्ती का किया, तो बदले में मौत मिली।” इस दुनिया में आते ही हमें लगता है कि यहाँ जो कुछ भी है वो सिर्फ हमारा है। इस धरती पर मौजूद हर एक चीज़, पेड़, पहाड़, नदियाँ, हवा, जानवर सब हमारे हैं।

हम जब चाहें इनका इस्तेमाल कर सकते हैं और जब चाहें तब इन्हें नष्ट कर सकते हैं। हम सबसे शक्तिशाली बनने की चाह में हर किसी को अपने पांव तले कुचलते जा रहे हैं। आपको बता दें केरल में, कुछ ‘इंसान कम जानवर ज्यादा’ लोगों ने फलों में पटाखे मिला कर एक गर्भवती हथिनी को खिलाकर उसकी जान ले ली। पटाखे उसके मुंह के अंदर ही फट गए और दर्द में कराहते हुए, तड़प तड़प कर उसने जान दे दी।

आपको बता दें कि यह दुर्भाग्यपूर्ण घटना पिछले हफ्ते की है। जहां एक हाथिनी भोजन की तलाश में मल्लापुरम जिले में शहर की ओर आ गई थी। यहां कुछ लोगों ने उस निर्दोष हथिनी को फलों के अंदर पटाखे छिपाकर खिलाए। जैसे ही गर्भवती हथिनी ने फल को खाने की कोशिश की, उसके मुंह के अंदर एक बड़ा धमाका हुआ। वह दर्द से कराहते हुए इधर-उधर भागने लगी।

Kerala : जब दर्द खत्म ही नहीं हुआ, तो उसने अपनी सूंड को एक नदी में डालकर

विस्फोट के कारण मुंह के अंदर बहुत अधिक चोटें आईं। इसके बावजूद उसने किसी को भी नुकसान नहीं पहुंचाया। उसने किसी पर भी हमला नहीं किया, न ही कोई घर तोड़ा। जब दर्द खत्म ही नहीं हुआ, तो उसने अपनी सूंड को एक नदी में डालकर थोड़ा आराम करने की कोशिश की। मौके पर उसे बचाने के लिए वन विभाग के कर्मचारी भी पहुंचे लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। 27 मई की शाम को इस बेकसूर हथिनी ने पानी में खड़े-खड़े ही अपनी जान दे दी।

इस घटना से बहुत ज्यादा दुखी वन अधिकारी मोहन कृष्णन ने पूरी दास्तां को साझा किया। उन्होंने लिखा, ‘उसने सभी पर विश्वास किया। जब उसने अनानास खाया तो उसे नहीं पता था कि इसमें पटाखे हैं। उसका मुंह और जीभ बहुत ही बुरी तरह से चोटिल हो गई थी। भीषण दर्द में भी उसने किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया। आखिरकार वो वेलियार नदी में आकर खड़ी हो गई। वन विभाग ने उसे बाहर निकालने की कोशिश की, लेकिन शायद उसे अंदाजा हो गया था कि उसका वक्त आ गया है। उसने ऐसा नहीं करने दिया।  मोहन कृष्णन ने बताया कि उसे सम्मानजनक विदाई देने के लिए हमने एक ट्रक मंगवाया। हमने उसे उसी जंगल में हमने अंतिम विदाई दी, जहां उसका बचपन बीता और वो बड़ी हुई।

बॉलीवुड ने भी इस घटना पर दी प्रतिक्रिया

श्रद्धा कपूर ने इस घटना पर गुस्सा जाहिर करते हुए ट्वीट किया है, ‘ऐसा कैसे हो सकता है ? क्या इन लोगों के पास दिल नहीं हैं ? मेरा दिल टूट कर बिखर गया है। अपराधियों को कठोर तरीके से दंडित करने की आवश्यकता है।’

सुनील शेट्टी की बेटी अथिया शेट्टी ने भी इस घटना से बेहद नाराज होकर ट्वीट किया है, ‘यह बहुत बर्बर है। किसी का भी ऐसा करने का दिल कैसे कर सकता है? बहुत घृणित, मुझे आशा है कि कार्रवाई की गई है।’


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates

वर्ल्ड कप की मेजबानी करने वाला स्टेडियम, खेत की तरह दिख रहा है, 2 फीट लंबी घास से भरा मैदान

खेत जैसा नजर आता है वो मैदान जिस पर कभी वर्ल्ड कप का मैच हुआ था। पटना के मोइनुल हक स्टेडियम(Moin-ul-Haq Stadium),...

Mirzapur Season 2: जानिए आखिर ट्विटर पर क्यों ट्रेंड हो रहा है बॉयकॉट मिर्ज़ापुर 2, गुड्डू भैया से जुड़ा है मामला.. पढ़ें

लंबे इंतजार के बाद अमेज़न प्राइम वीडियो ने सोमवार को मिर्जापुर के दूसरे सीज़न की रिलीज़ डेट की घोषणा की। लेकिन मंगलवार...

भूमि पूजन: अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त को नहीं मिलेगा किसी को भी प्रवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में श्री राम मंदिर की भूमि पूजन के लिए पहुंचेंगे इस को ध्यान में रखते...

1983 वर्ल्ड कप चैंपियन भारतीय क्रिकेट टीम को कितने पैसे मिलते थे जानिए

दिग्गज पाकिस्तानी क्रिकेटर रमीज राजा ने 1983 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम की पे-स्लिप शेयर की है। कपिल देव की कप्तानी...

हाईस्कूल में फेल हुई छात्रा ने पिया जहर, वहीं पिथौरागढ़ में छात्रा ने की फांसी लगाकर आत्महत्या

उत्तराखंड के नैनीताल में हाईस्कूल में फेल होने के बाद गवर्नमेंट इंटर कॉलेज बाजुनियाहल्लु की एक छात्रा ने आत्मघाती कदम उठाया। दरअसल,...