8 करोड़ प्रवासी मजदूरों के लिए सरकार का बड़ा तोहफा, 2 महीने तक मिलेगा मुफ्त में अनाज

AtmaNirbahar Bharat Package: Govt. will provide free grains to 8 crore migrants

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मंगलवार रात को राष्ट्र के नाम संबोधन में उन्होंने 20 लाख करोड़ रुपये के विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा की थी। गुरुवार को मीडिया ब्रीफिंग के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि इस पैकेज से किस वर्ग को कितना फायदा मिलेगा। उन्होंने प्रवासी मजदूर, स्ट्रीट वेंडर, छोटे व्यापारियों और किसानों के लिए विभिन्न घोषणाएं की है।

वित्त वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने “आत्मनिर्भर भारत पैकेज” की मीडिया ब्रीफिंग के दौरान बताया कि सरकार ने सभी प्रवासियों के लिए 2 महीने तक के मुफ्त भोजन के प्रबंध करने का फैसला लिया है। इसके लिए सरकार द्वारा 3500 करोड़ रुपए का प्रावधान जारी किया है। देशभर में राज्य सरकारों की मदद से लगभग 8 करोड़ प्रवासी मजदूरों को इसका फायदा मिलेगा।

8 करोड़ प्रवासी मजदूरों को सरकार 2 महीने तक मुफ्त में गेहूं (5 किलो), चावल (5 किलो) और चना (1 किलों) मुहैया कराएगी।

मीडिया ब्रीफिंग के दौरान वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने बताया कि रेहड़ी,पटरी और ठेले पर सामान बेचने वाले हमारे भाई-बहन हैं उनके लिए 5000करोड़ की विशेष सुविधा लेकर आए हैं। 10000 रुपए प्रति व्यक्ति इनको सुविधा दी जाएगी। जो डिजिटल पेमेंट करेगा उनको ईनाम भी मिलेंगे। इससे आने वाले समय में उन्हें अतिरिक्त लाभ मिलेगा।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कोरोना संकट से जूझ रही देश की आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने के लिए ‘आत्मनिर्भर भारत पैकज’ की घोषणा की थी। साथ ही उन्होंने देशवासियों से अपने ‘लोकल के लिए वोकल’ बनने की अपील की थी। उन्होंने कहा, हमें न सिर्फ लोकल प्रोडक्ट्स खरीदने हैं, बल्कि उनका गर्व से प्रचार प्रसार भी करना है।


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)