Home National 1 May: 1 मई इतिहास के पन्नों में है खास, इस दिन...

1 May: 1 मई इतिहास के पन्नों में है खास, इस दिन मनाया जाता है विश्व मजदूर दिवस, गुजरात दिवस और महाराष्ट्र दिवस

1 May: 1 मई अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय इतिहास के पन्नो में एक खास दिन है। इस दिन अन्तराष्ट्रीय मजदूर दिवस के अलावा गुजरात दिवस और महाराष्ट्र दिवस मनाया जाता है। 1 मई 1960 को बॉम्बे प्रदेश को दो पृथक राज्यों में बांटकर इनकी स्थापना की गई थी। तो चलिए जानते हैं इन दिवसों के बारे में कुछ खास बातें:

1 मई मजदूर दिवस: 1 May International Labour day

हर साल 1 मई का दिन श्रमिकों को समर्पित किया जाता है।इस दिन को दुनियाभर में अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को लेबर डे, श्रमिक दिवस या मई दिवस (May Day) भी कहा जाता है।

1 May: मजदूर दिवस क्यों मनाया जाता है?

अन्तराष्ट्रीय मजदूर दिवस(International Labour day) अर्थव्यवस्था और विकास में श्रमिकों के अमूल्य योगदान और उनके त्याग-बलिदान को याद करने के लिए मनाया जाता है। इस दिन श्रमिक अपने अधिकारों को पाने के लिए किए गए संघर्षों को याद करते है। दुनिया के करीब 80 देशों में इस दिन राष्ट्रीय अवकाश रहता है। भारत में मजदूर दिवस सबसे पहले चेन्नई में 1 मई 1923 को मनाया गया था।

मजदूर दिवस का इतिहास

● 1 मई 1886 से अंतराष्ट्रीय मजदूर दिवस मनाने की शुरुआत हुई थी।

● इस दिन अमेरिका के मजदूर संघों ने मिलकर हड़ताल की थी। उनकी मांग थी कि वे 8 घंटे से ज्यादा काम नहीं करेंगे।

● 1 मई 1886 को अपनी मांग को पूरा करवाने लगभग 3 लाख से ज्यादा मजदूर सड़कों पर प्रदर्शन करने के लिए उत्तर गए।

● 4 मई 1886 को अमेरिका के शिकागो शहर में मजदूर अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन कर ही रहे थे कि हेय मार्केट में बम ब्लास्ट हो गया।

● बॉम्ब ब्लास्ट के बाद बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारी मजदूरों पर नियंत्रण पाने के लिए उन पर गोलियां बरसा दी। इस हादसे में कई लोगों की जाने गयी और सैकड़ों घायल हुए।

● शिकागो शहर में प्रदर्शन के दौरान शहीद मजदूरों की याद में पहली बार मजदूर दिवस मनाया गया।

● 1889 में पेरिस अंतराष्ट्रीय समाजवादी सम्मेलन में शिकागो के हेय मार्केट गोलीकांड में मारे गए निर्दोष मजदूरों की याद में 1 मई को ‘अंतराष्ट्रीय मजदूर दिवस’ (International Labour day) के रूप में मनाए जाने की घोषणा की गई।

● सम्मेलन में फैसला लिया गया कि इस दिन सभी कामगारों और श्रमिकों का अवकाश मिलेगा। 

● 1 मई 1923 से भारत में अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस की शरुआत हुई। इस दिन देशभर में कामगारों के लिए अवकाश होता है।

● वर्तमान समय में भारत समेत 80 देशों में मजदूर दिवस मनाया जाता है।

1 मई महाराष्ट्र दिवस और गुजरात दिवस: 1 May

Maharashtra Day and Gujarat Day: आज के ही दिन 1मई, 1960 में बॉम्बे प्रदेश को दो पृथक राज्यों- महाराष्ट्र और गुजरात में बांटा गया था। इन दोनों राज्यों की स्थापना हुए आज पूरे 60 साल हो चुके हैं। कभी गुजरात और महाराष्ट्र एक ही राज्य का हिस्सा हुआ करते थे।

लेकिन आजादी के बाद मराठियों और गुजरातियों के बीच पृथक राज्य की मांग तूल पकड़ने लगी। जिसके बाद 1 मई 1960 को तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू सरकार ने दो पृथक राज्य- महाराष्ट्र और गुजरात के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी। इस दिन के बाद से ही 1 मई को दोनों राज्यों में स्थापना दिवस (Maharashtra Day and Gujarat Day) के रूप में मनाया जाता है।


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates

वर्ल्ड कप की मेजबानी करने वाला स्टेडियम, खेत की तरह दिख रहा है, 2 फीट लंबी घास से भरा मैदान

खेत जैसा नजर आता है वो मैदान जिस पर कभी वर्ल्ड कप का मैच हुआ था। पटना के मोइनुल हक स्टेडियम(Moin-ul-Haq Stadium),...

Mirzapur Season 2: जानिए आखिर ट्विटर पर क्यों ट्रेंड हो रहा है बॉयकॉट मिर्ज़ापुर 2, गुड्डू भैया से जुड़ा है मामला.. पढ़ें

लंबे इंतजार के बाद अमेज़न प्राइम वीडियो ने सोमवार को मिर्जापुर के दूसरे सीज़न की रिलीज़ डेट की घोषणा की। लेकिन मंगलवार...

भूमि पूजन: अयोध्या को सील करने की तैयारी, 4 अगस्त को नहीं मिलेगा किसी को भी प्रवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 5 अगस्त को अयोध्या में श्री राम मंदिर की भूमि पूजन के लिए पहुंचेंगे इस को ध्यान में रखते...

1983 वर्ल्ड कप चैंपियन भारतीय क्रिकेट टीम को कितने पैसे मिलते थे जानिए

दिग्गज पाकिस्तानी क्रिकेटर रमीज राजा ने 1983 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम की पे-स्लिप शेयर की है। कपिल देव की कप्तानी...

हाईस्कूल में फेल हुई छात्रा ने पिया जहर, वहीं पिथौरागढ़ में छात्रा ने की फांसी लगाकर आत्महत्या

उत्तराखंड के नैनीताल में हाईस्कूल में फेल होने के बाद गवर्नमेंट इंटर कॉलेज बाजुनियाहल्लु की एक छात्रा ने आत्मघाती कदम उठाया। दरअसल,...