HomeInternationalआखिर लॉकडाउन के बाद दुनिया कैसी होगी?

आखिर लॉकडाउन के बाद दुनिया कैसी होगी?

Lockdown : जब देश में पहली बार लॉकडाउन किया गया था, तो सभी को लगा कि यह कुछ दिनों के लिए ही होगा। जिसके बाद सब कुछ सामान्य हो जाएगा। लोग पहले की तरह काम पर जा सकेंगे, गाड़ियां फिर से सड़कों पर दौड़ती दिखाई देंगी, हम फिर बिना मास्क के खुली हवा में सांस ले पाएंगे।

लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ, कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण, लोगों की आशाओं को तोड़ते हुए लॉकडाउन को आगे बढ़ाया गया। आज स्थिति यह है कि लॉकडाउन का तीसरा चरण खत्म हो गया है और लॉकडाउन -4 शुरू हो गया है। लेकिन स्थिति जस की तस बनी हुई है।

इसके विपरीत, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के बयानों ने वर्तमान स्तिथि को देखते हुए कहा है कि कोरोना कभी दूर नहीं जा सकता है और हमें इसके साथ रहना होगा। तब से लोगों के मन में यह सवाल उठ रहा है कि ऐसा होने पर क्या होगा, क्या लॉकडाउन खुलने के बाद भी हमें हमेशा इस महामारी के डर से जीना पड़ेगा? क्या हम कभी अपने दोस्तों और परिचितों को गले नहीं लगा पाएंगे? हम वायरस के डर से सड़क पर चाट खाने से डरेंगे, सड़कों पर एक-दूसरे का हाथ पकड़कर चलना भूल जाएंगे।

बाजार सूना हो जाएगा, त्यौहार फीके पड़ जाएंगे और यह सब एक वायरस के कारण है जो नग्न आंखों से भी दिखाई नहीं देता है? बड़े देश, बुद्धिजीवी, अर्थशास्त्री इस समय वैश्विक अर्थव्यवस्था के बारे में चिंतित हैं, लेकिन जब पूरी मानवता डर के साये में जीने को मजबूर है, तो आखिर धन का कौन सा पहाड़ इस स्थिति में हमें खुशी देगा।लेकिन कहीं न कहीं इंसान के दिल में अब भी उम्मीद है कि एक दिन सबकुछ सामान्य हो जाएगा और वह पहले की तरह अपने जीवन का आनंद ले पाएगा।

यह अभी भी मनुष्य की निर्मित चेतना में छिपा नहीं है कि असंख्य अड़चने , महामारी, प्रलय इतिहास में उसके रास्ते में आए हैं, लेकिन उसने इसे जीतकर अपनी यात्रा जारी रखी है, जो अभी भी जारी है और आगे भी रहेगी। दुनिया की अधिकांश प्राचीन सभ्यताओं का कहना है कि जो व्यक्ति जन्म लेता है उसकी मृत्यु निश्चित है, उसके अनुसार यह महामारी भी जन्म लेती है, इसलिए कहीं न कहीं विराम अवश्य होना चाहिए और मनुष्य को इसे अवश्य खोजना चाहिए।


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates