सावधान! कोरोनोवायरस आंखों से शरीर में प्रवेश कर सकता है

Coronavirus may be transmitted through eyes says reports

आज के समय में, या तो बीमारी या कोई भी आपदा मानव जीवन पर संकट बन जाती है। जिनमें से एक कोरोनावायरस है, यह एक ऐसी बीमारी है, जिसकी दवा अभी तक कोई भी देश नहीं बना पाया है। इस वायरस के कारण अबतक 2 लाख 87 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि लाखों लोग इस वायरस से संक्रमित हो गए हैं। वैज्ञानिकों के लिए यह कहना थोड़ा मुश्किल है कि कब तक इस बीमारी से छुटकारा मिल पाएगा।

मास्क और दस्ताने पहनकर, चेहरे को छूने से बचाकर वायरस से बचा जा सकता है। पहले यह अनुमान लगाया जा रहा था कि कोरोना आंखों के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर सकता है। वैज्ञानिकों ने एक चौंकाने वाला रहस्योद्घाटन किया है कि कोरोना आंख में मौजूद Ace -2 (angiotensin-converting enzyme 2) रिसेप्टर के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर सकता है। जॉन्स हॉपकिंस यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन के नेतृत्व में एक टीम ने अब पाया कि यदि संक्रमित व्यक्ति खांसता या छींकता है, तो उसमें मौजूद वायरस आंखों में मौजूद Ace-2 (angiotensin-converting enzyme 2) रिसेप्टर से चिपककर शरीर में फैल सकता है। जैसे ही यह वायरस आंख तक पहुंचता है, संक्रमण शुरू हो जाता है। आंखों के लाल होने के साथ-साथ यह सूज भी सकती है। सबसे बड़ा खतरा यह है कि आंखों में मौजूद आंसुओं के जरिए यह वायरस अपना प्रसार भी बढ़ा सकता है।

नेत्र रोग विभाग के डॉ. लिंगली झोहू ने बताया कि इस निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए कोरोना संक्रमण से नहीं मरे 10 लोगों का पोस्टमार्टम किया गया। जब इनकी आंखों की जांच की गई, तो पाया गया कि आंखों में Ace-2 (angiotensin-converting enzyme 2) रिसेप्टर भी है, जो कोरोना का सबसे बड़ा वाहक है। जब वायरस यहां पहुंचता है, तो यह रिसेप्टर को निष्क्रिय कर देता और संक्रमण को फैलाना शुरू कर देता है ।

Ace-2 रिसेप्टर के साथ उन लोगों में उच्च वायरल लोड: वैज्ञानिकों का दावा है कि जिन लोगों में Ace-2 रिसेप्टर ज्यादा पाया जाता हैं, उनमें वायरल लोड यानी वायरस अधिक हो सकता है। संक्रमण की पहली खुराक रक्त के माध्यम से शरीर में फैल सकती है। तीस प्रतिशत लोगों में आंखों से कोरोनावायरस फैल सकता है है। यही कारण है कि अत्यधिक सावधानी बरतने के बाद भी, लोग इसके शिकार हो रहे हैं।


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)