Home International विमान दुर्घटना से पहले पायलट ने 3 बार कहा था मेडे-मेडे-मेडे, जानिए...

विमान दुर्घटना से पहले पायलट ने 3 बार कहा था मेडे-मेडे-मेडे, जानिए क्या होता है इसका मतलब

शुक्रवार को, पाकिस्तान में विमान दुर्घटना के पायलट ने भी विमान में सवार अपने और यात्रियों के जीवन को बचाने के लिए हर संभव प्रयास किया, उन्होंने नियंत्रण कक्ष को अंतिम संदेश में कहा मेडे-मेडे-मेडे (Mayday)। मगर न तो विमान को बचा पाया न ही अपनी जिंदगी।

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस का एक विमान लैंडिंग से ठीक एक मिनट पहले कराची में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस विमान में कुल 99 लोग सवार थे। विमान हवाई अड्डे के पास घनी आबादी वाले इलाके में गिरा। इस हादसे में 97 से ज्यादा की मौत हो गई। बता दें कि तालाबंदी के बाद पाकिस्तान एयरलाइंस की यह पहली उड़ान थी। पायलट और नियंत्रण कक्ष के बीच अंतिम बातचीत सुनें।

Mayday! मेडे का क्या मतलब होता है, ये शब्द कहां से आया

  रेडियो संपर्क के दौरान, व्यथित कॉल का अर्थ है कि विमान को चलाने वाला पायलट कंट्रोल रूम को परेशानी में होने के बारे में सूचित करने के लिए ‘मेयडे’ का संदेश देता है। यह शब्द उन स्थितियों में उपयोग किया जाता है जब जीवन को खतरा होता है। विमान में, मेडे (Mayday) शब्द का इस्तेमाल बेहद खराब परिस्थितियों के लिए किया जाता है।

यह स्पष्ट रूप से पता चलता है कि विमान का इंजन खराब हो गया था और तकनीकी समस्याओं के कारण स्थिति पायलट के हाथ से बाहर निकल गई थी। जान को खतरा होने की स्थिति में, रेडियो के जरिए तीन बार Mayday बोलकर कंट्रोल रूम को सूचना दी जाती है कि स्थिति अब हाथ से बाहर है। दरअसल, यह मेडे फ्रेंच शब्द m’aider से निकला है जिसका मतलब है ‘मेरी मदद करो।’


WeUttarakhand की न्यूज़ पाएं अब Telegram पर - यहां CLICK कर Subscribe करें (आप हमारे साथ फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर जुड़ सकते हैं)

Latest Updates